श्रीलंका की तरह पाकिस्तान की आर्थिक हालत भी हुई खस्ता

0
1610

आर्थिक संकट में फंसा पाकिस्तान भी धीरे-धीरे श्रीलंका बनने की राह पर आगे बढ़ रहा है। पाकिस्‍तान की अर्थव्‍यवस्‍था इस समय टिक-टिक करता हुआ एक टाइम बम की तरह है। श्रीलंका के आर्थिक संकट का असर अब पाकिस्तान पर भी पड़ा है, जिसकी अर्थव्यवस्था ऐसी ही चुनौतियों का सामना कर रही है।

पाकिस्तान के पास बड़ी मात्रा में कर्ज

डेली पार्लियामेंट टाइम्स में लिखते हुए मुहम्मद हमजा क़मर ने कहा कि पाकिस्तान के पास बड़ी मात्रा में कर्ज, उच्च मुद्रास्फीति, बेरोजगारी में वृद्धि और कई अन्य व्यापक आर्थिक समस्याएं हैं जो स्पष्ट रूप से देश के सामने आने वाली कई चुनौतियों को दर्शाती हैं।

आवश्यक वस्तुओं पर आयात, सीमित विदेशी मुद्रा स्रोत, मुक्त व्यापार पर प्रतिबंध और संचित विदेशी ऋण श्रीलंका और पाकिस्तान के साथ कई अन्य खतरनाक समानताएं हैं।

अपनी संप्रभु गारंटी के हिस्से के रूप में, पाकिस्तान को चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (CPEC) के निर्माण के लिए चीन से 46 बिलियन अमरीकी डालर (अब 55 बिलियन अमरीकी डालर) प्राप्त हुए।

क़मर ने पुष्टि की कि इन निवेशों के इक्विटी हिस्से को डॉलर के संदर्भ में 17-20 प्रतिशत की दर से रिटर्न की गारंटी दी गई थी, जिसमें ऋण-इक्विटी अनुपात 80 और 20% के बीच था।

 

26 महीने से भी कम समय में चीन अपने निवेश की भरपाई कर लेगा और अगले 25 सालों तक पाकिस्तान को करता रहेगा। डेली पार्लियामेंट टाइम्स के अनुसार, इतनी ऊंची लागत देश की अर्थव्यवस्था को पंगु बना सकती है।