2024 के लोकसभा चुनाव नजदीक हैं और जैसे – जैसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं वैसे – वैसे ही पार्टियों के बीच गरमा – गर्मी का माहौल बढ़ता जा रहे है विपक्ष में बैठी कांग्रेस ने सत्ताधारी पार्टी बीजेपी के लिए मंहगाई का मोर्चा खोल दिया है और पूरी दिल्ली में धारा 144 लागू होने के बावजूद प्रियंका अपने पार्टी के अन्य कार्यकर्ताओं के साथ दिल्ली के मुख्यालय पहुँच कर वहां महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ धरना दे रही थी. प्रियंका गाँधी के साथ – साथ राहुल गाँधी और शशि थरूर भी शामिल थे. कांग्रेस ने दिल्ली मुख्यालय के सामने अपनी बातों को लेकर जमकर हंगामा काटा. कांग्रेस ने ये प्रदर्शन शुक्रवार 5 अगस्त से करना शुरू किया.

प्रदर्शन के दौरान वहां मौजूद महिला पुलिसकर्मियों ने प्रियंका गाँधी को वहां से उठाने के लिए कहा लेकिन प्रियंका ने किसी की एक बात नहीं सुनी. इसी के चलते प्रियंका को हिरासत में लेने के लिए महिला पुलिसकर्मियों को काफी मेहनत करनी पड़ी. मुख्यालय के बहार मौजूद सभी कांग्रेस नेताओं के लिए काफी मुश्किल खडी हो गयी. प्रियंका गाँधी को वहां से हिला पाना मुश्किल हो रहा था. 9 महिला पुलिसकर्मी की प्रियंका को हिलाने में हालत खराब ही गयी.

हुआ ये था कि कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी कांग्रेस दफ्तर के बाहर बैठी थी और सुरक्षा घेरे को तोड़ कर बैरिकेड के ऊपर चढ़ कर दूसरी तरह कूद पड़ी जिसके बाद महिला पुलिस कर्मियों ने उन्हें पकड़ लिया और पुलिस कर्मियों द्वारा पकड़े जाने के बाद  प्रियंका गांधी वहीं सड़क पर ही धरना देने लगी. इसके बाद करीब 9 महिला पुलिसकर्मी उन्हें उठाकर गाड़ी तक ले जाने लगी. इस दौरान पुलिसकर्मियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। इसका एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें कुछ महिला पुलिसकर्मी प्रियंका गांधी को उठाते हुए दिख रही हैं और प्रियंका गांधी खुद को महिला पुलिसकर्मियों से छुड़ाती हुई नजर आ रही है.

Also Read -   प्रधानमंत्री मोदी से कुछ ऐसे मिले विपक्ष के दिग्गज नेता, मानो कभी कुछ हुआ ही नहीं