चुनाव का समय नजदीक आते ही कई तरह के सियासी उलटफेर सामने आने लगते हैं. अब ऐसे मेंमध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 के लिए भी मुख्यमंत्री पद को लेकर सियासी अटकलें तेज होती हुई नजर आ रही हैं. इस बीच ताजा सवाल ये है कि क्या बीजेपी की ओर से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ही आगे मैदान में उतरेंगे या फिर कोई नया चेहरा सामने आ सकता है?

मिली जानकारी के मुताबिक, मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पद के लिए जब भी नए चेहरे की बात होती है तो केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के नाम के चर्चे तेज हो जाते हैं. हालांकि, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस पूरे मामलें पर अभी तक कोई भी आधिकारिक रूप से बात नहीं कही है.

जनता की सेवा

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने राजनीति को महज एक जरिया बताते हुए मध्य प्रदेश के लोगों की सेवा करना ही अपना कर्तव्य बताया. उन्होने कहा कि वे जनता की सेवा करना चाहते है और उनके दिल में छोटा सा स्थान बनाना चाहते है.

एमपी विधानसभा चुनाव

2018 में एमपी विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी को शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में हार मिली थी। लेकिन जब  ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस विधायकों के साथ बीजेपी में शामिल हुए तो शिवराज सिंह चौहान फिर से सत्ता में आ गए.

आने वाले समय में फिर से एमपी में विधानसभा के चुनाव होने हैं और शिवराज सिंह चौहान संसदीय बोर्ड से बाहर हो गए हैं.

जिससे अटकलों का दौर शुरू हो गया है और ये कयास लगाए जा रहे हैं कि 2023 में सीएम पद का चेहरे के ज्योतिरादित्य सिंधिया भी एक दावेदार है.

Also Read -   Madhya Pradesh Elections: Why BJP and Amit Shah should be worried?