Kisan Andolan 2.0: क्या होगी किसानों की अगली रणनीति, 29 फरवरी के बाद फिर दिल्ली कूच की ओर बढ़ेंगे?

0
4680

किसानों के धरना स्थगित के ऐलान से आम जनता को राहत मिल गई है. दरअसल, किसानों ने 29 फरवरी तक अपने धरने को स्थगित किया है. इसके बाद से ही पुलिस प्रशासन ने लोगों को आवाजाही में थोड़ी ढील दे दी है प्रशासन की तरफ से सिंघु और टिकरी बॉर्डर को खोला गया है ताकि लोगों को इतने दिनों से हो रही परेशानी से थोड़ी राहत मिल सके. हालांकि, अभी पूरी तरह से सहूलियत नहीं मिल पाएगी, कुछ ही खास रास्तों को खोला गया है. बता दें कि किसान लगातार दिल्ली कूच का ऐलान कर रहे हैं. किसानों को रोकने के लिए प्रशासन ने कंक्रीट, बैरिकेडिंग आदि लगाई हुई है लेकिन किसानों के धरने को स्थगित करने के ऐलान के बाद से लोगों को थोड़ी राहत मिली है.

आवाजाही के लिए खुले बॉर्डर
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, किसान आंदोलन के बीच एहतियात के तौर पर दिल्ली पुलिस ने कुछ बॉर्डरों को खोला है जिससे लोगों को राहत मिल सके. प्रशासन ने टिकरी बॉर्डर और सिंघु बॉर्डर पर फिर से यातायात की आवाजाही शुरू कर दी है. दोनों ही जगहों पर दिल्ली से हरियाणा आने जाने वालों के लिए एक-एक लेने खोल दी गई है. वहीं, गाजीपुर बॉर्डर पर भी प्रशासन ने काफी बैरिकेड हटा दिए हैं जिससे लोगों को सहूलियत मिली है.

29 फरवरी तक धरना स्थगित
आपको बता दें कि किसान नेताओं द्वारा ऐलान किया गया है कि 29 फरवरी तक आंदोलन को स्थगित किया जाता है. 29 फरवरी के बाद आगे की रणनीति तय की जाएगी और उसके बाद आगे की रणनीति के हिसाब से फैसला लिया जाएगा. फिलहाल के लिए 29 फरवरी तक धरना स्थगित है जिसको देखते हुए प्रशासन ने एहतियात के तौर पर लोगों को सहूलियत दे दी है लेकिन किसान अभी अपनी मांगों से पीछे नहीं हटे हैं, वो आगे की रणनीति तय करके फैसला लेंगे. बताते चलें कि बीच-बीच में किसान नेता ये बयान देते रहते हैं कि हमारे धरने के स्थगित होने का सरकार फायदा न उठाए, हमारी मांग अभी भी वही है. बहरहाल, देखने वाली बात होगी कि आखिर जब फिर से किसानों का धरना शुरू होगा तो वो क्या रूप लेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here