बिहार में महागठबंधन की सरकार बन गई है और अब नई सरकार में नीतीश कुमार फिर से बिहार के मुख्यमंत्री बन गए हैं जिसमें तेजस्वी यादव ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ग्रहण की. अब राजनीतिक गलियारों में नीतीश कुमार की नई कैबिनेट को लेकर चर्चा तेज है. हालांकि, इसको लेकर कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है लेकिन कयास जरूर लगाए जा रहे हैं.

कांग्रेस का पलड़ा कम भारी

मिली जानकारी के अनुसार, बिहार सरकार में 16 से 18 मंत्री आरजेडी के होंगे जबकि कांग्रेस को 3 या 4 पद ही मिल सकते हैं. इसके अलावा नीतीश कुमार की नई कैबिनेट में निर्दलीय विधायक सुमित सिंह को भी फिर से मंत्री बनने का मौका मिल सकता है.

JDU कोटे के मंत्री

वहीं, नीतीश कुमार मंत्रिमंडल में जेडीयू कोटे की बात करें तो इसमें से बिजेंद्र प्रसाद यादव, विजय कुमार चौधरी, उपेंद्र कुशवाहा, संजय झा, लेसी सिंह, सुनील कुमार, जमां खान, अशोक चौधरी, जयंत राज को मंत्री बनाया जाएगा. इसके अलावा जब कांग्रेस के कोटे से तीन या चार को ही पद मिल सकता है तो इसमें मदन मोहन झा, अजीत शर्मा, शाकिर अहमद खान, राजेश कुमार राम को मंत्री बनाया जा सकता है.

RJD कोटे के मंत्री

कैबिनेट मंत्री को लेकर आरजेडी कोटे से तेज प्रताप यादव, कुमार सर्वजीत, अख्तरुल इस्लाम शाहीन, आलोक कुमार मेहता, ललित यादव, अनीता देवी, जितेंद्र कुमार राय, अनिल सहनी, भाई वीरेंद्र, भारत भूषण मंडल, चंद्रशेखर, वीणा सिंह, सुरेंद्र राम, शाहनवाज, रणविजय साहू, समीर महासेठ, सुनील सिंह या केदार सिंह, बच्चा पांडे या राहुल तिवारी, सौरभ कुमार या कार्तिक सिंह में से किसी एक को मौका मिल सकता है. कैबिनेट विस्तार में आरजेडी, जेडीयू कोटे का पलड़ा तो भारी है लेकिन कांग्रेस का पलड़ा कम भारी है.

Also Read -   मेरे लिए पद नहीं मिशन बड़ा...बड़े-बड़े पदों को लात मारी, जानिए नई सरकार में जगह न मिलने पर उपेंद्र कुशवाहा ने ऐसा क्यों कहा?