सीबीआई इन दिनों लगातार छापेमारी कर रही है. बता दें कि लैंड फॉर जॉब स्कैम के मामले में सीबीआई ने कई ठिकानों पर छापेमारी की है. मिली जानकारी के मुताबिक, सीबीआई को 200 से ज्यादा सेल डीड्स मिली है. दरअसल, लालू परिवार पर आरोप है कि उन्होंने जमीन के बदले नौकरी दी थी और एफआईआर में केवल 7 सेल डीड दर्ज की गई थी और इनमें 5 सेल डीड और 2 गिफ्ट डीड थी.

तेजस्वी यादव ने किया दावा

मिली जानकारी के मुताबिक, केंद्रीय रेल मंत्री रहते हुए लालू प्रसाद यादव ने जमीन के बदले में लोगों को नौकरी दिलाई थी और इस घोटाले के मामले में सीबीआई ने छापेमारी की थी. वहीं, इसमें गुरुग्राम में एक निर्माणाधीन मॉल भी शामिल था. हालांकि, इस पर बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने दावा किया कि मॉल से उनका कोई लेना देना नहीं है.

CBI ने की छापेमारी

आपको बता दें कि अधिकारियों का कहना है कि जो कंपनी मॉल का निर्माण कर रही है उस पर तेजस्वी यादव का मालिकाना हक है. जिन नेताओं के ठिकानों पर सीबीआई ने छापेमारी की उनमें आरजेडी के कई वरिष्ठ नेता शामिल हैं. वहीं, राज्यसभा सदस्य अहमद और अशफाक करीब के ठिकानों पर भी सीबीआई द्वारा छापेमारी की गई.

बीजेपी पर कसा तंज

बताते चलें कि बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने विधानसभा में बोलते हुए बीजेपी पर तंज कसा और कहा कि जहां भी उनके सरकारें नहीं होती है वहां वह अपने तीन जमाई को भेज देते हैं जिसमें ईडी, आईटी और सीबीआई शामिल है.

Also Read -   How far is Rahul Gandhi's idea of Politicising India-China Clash Fair ?