PM को पनौती बताने वाले बयान को लेकर राहुल गांधी की बढ़ सकती हैं मुश्किलें! चुनाव आयोग पहुंची बीजेपी

0
5713
फाइल फोटो

कांग्रेस की मुश्किलें लगातार बढ़ती हुई नजर आ रही हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कांग्रेस नेता राहुल गांधी की पनौती मोदी वाली टिप्पणी को लेकर बीजेपी ने चुनाव आयोग में गुरुवार को शिकायत की. इसके अलावा कांग्रेस के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के खिलाफ भी आयोग का दरवाजा खटखटाया है. बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने वर्ल्ड कप में भारतीय टीम को मिली हार को लेकर पीएम मोदी पर आपत्तिजनक बातें कहीं. इसको लेकर ही बीजेपी उन पर हमलावर नजर आ रही है.

राहुल और खरगे की बढ़ी मुश्किलें!
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया, बीजेपी नेता ओम पाठक और राधा मोहन दास अग्रवाल ने इलेक्शन कमिशन में शिकायत देते हुए खड़गे और राहुल गांधी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. बात करें राहुल गांधी के बयान की तो राहुल गांधी ने 21 नवंबर, मंगलवार को राजस्थान में एक चुनावी रैली के दौरान कहा था कि, ‘पीएम का मतलब पनौती मोदी है. वर्ल्ड कप में मिली भारतीय टीम की हार को लेकर राहुल गांधी ने कहा था कि क्रिकेट विश्व कप फाइनल के दौरान अहमदाबाद स्टेडियम में पीएम मोदी की उपस्थिति देश की टीम के लिए दुर्भाग्य लेकर आई और वो मैच हार गई…’ वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने दावा किया था कि, ‘पीएम मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तो उसे समय उनकी जाति को ओबीसी सूची में शामिल किया गया था. उन्होंने पीएम मोदी को झूठों का सरकार भी करार दिया था…’ कांग्रेस की इन‌ सब बातों को लेकर ही लेकर बीजेपी चुनाव आयोग के पास पहुंची है

फाइल फोटो

कांग्रेस पर बीजेपी हमलावर
आपको बता दें कि बीजेपी ने पूरे मामले में राहुल गांधी से माफी की मांग की थी. पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि, ‘देश के प्रधानमंत्री के बारे में गांधी की टिप्पणी शर्मनाक, निंदनीय और अपमानजनक है. उन्होंने पार्टी की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा था कि उन्होंने अपना असली रंग दिखा दिया है लेकिन उन्हें याद रखना चाहिए कि उनकी मां सोनिया गांधी के गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री मोदी को मौत का सौदागर कहे जाने के बाद कांग्रेस गुजरात में कैसे डूब गई थी…’ बताते चलें कि राहुल गांधी के इस आपत्तिजनक बयान से खलबली मची हुई है, देखने वाली बात होगी कि आखिर इस मामले में आगे और क्या कुछ होता है.