PM Modi: एनडीए सांसदों से हुई पीएम मोदी की मुलाकात, सीएम नीतीश कुमार को लेकर कहा- ‘सीएम बनने के हकदार नहीं थे फिर भी हमने बनाया’

0
19349
फाइल फोटो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एनडीए सांसदों के साथ मुलाकात की इस दौरान उन्होंने कई बड़ी बातों पर जोर दिया और साथ ही बीजेपी के त्याग की याद दिलाई. उन्होंने त्याग को याद दिलाते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बारे में बयान दिया. पीएम मोदी ने कहा कि, ‘हमने ज्यादा सीटों पर जीत हासिल करने के बाद भी नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाया जो इसके योग्य नहीं थे हमने ज्यादा सीटें हासिल की लेकिन गठबंधन धर्म के लिए ऐसा किया गया. बता दें कि बिहार के साथ-साथ पीएम मोदी ने पंजाब का भी जिक्र किया और कहा कि जहां बीजेपी अकाली दल के साथ सत्ता में रही थी हमने कभी पंजाब में मुख्यमंत्री पद की मांग नहीं की…’

पीएम मोदी की NDA सांसदों के साथ मुलाकात
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पीएम मोदी की एनडीए सांसदों के साथ 31 जुलाई से मीटिंग शुरू हुई है जोकि आने वाले दिनों में भी चलती रहेगी उन्होंने गुरुवार को हुई मीटिंग में बिहार, दिल्ली, उत्तर भारत समेत कई अन्य सांसदों से मुलाकात की. मुलाकात के दौरान कई बड़ी बातें भी कहीं. पीएम मोदी ने सांसदों से कहा कि, ‘उन्हें सिर्फ उन जाति के लोगों के बीच में ही नहीं रहना चाहिए जिससे वह आते हैं बल्कि कोशिश करनी चाहिए कि सभी जाति के लोगों के साथ जुड़े, गरीबी की कोई जाति नहीं होती इसलिए सभी सांसद कोशिश करें कि उन वर्ग के लोगों के साथ जुड़े जो वंचित हैं और गरीबी के शिकार हैं…’

फाइल फोटो

लोकसभा चुनाव को लेकर हो रही मीटिंग!
आपको बता दें कि पीएम मोदी का सांसदों से मुलाकात का दौर जारी है. उन्होंने पहले बिहार के सांसदों से मुलाकात की जिसके बाद उन्होंने हरियाणा, हिमाचल, पंजाब, जम्मू कश्मीर, लद्दाख समेत कुछ अन्य राज्यों के सांसदों से भी मुलाकात की. दरअसल, पीएम मोदी ने बीजेपी सांसदों से मुलाकात के दौरान कहा था कि केवल राम मंदिर के भरोसे ना रहें अन्य मुद्दों को लेकर भी जनता के बीच में जाएं, जो रुठे हैं उन्हें मनाए…यानी कि ऐसे में ये कयास लगाना गलत नहीं होगा कि अधिकतर मीटिंग चुनाव के मद्देनजर हो रही हैं क्योंकि जब-जब चुनाव पास आते हैं तो उस समय विपक्ष की कोशिश रहती है जनता को सरकार की कामयाबी से भटकना. बताते चलें कि साल 2024 में लोकसभा चुनाव होने हैं ऐसे में सत्ताधारी और विपक्षी दलों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं, देखना होगा कि आगामी चुनाव में कौन-सी पार्टी सत्ता की कुर्सी पर काबिज होती है.