भारतीय जनता पार्टी समेत सभी राजनीतिक पार्टियां आगामी चुनाव में सत्ता पर काबिज होने के लिए अपनी ओर से सारी कोशिश कर रही है. ऐसे में ही बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का कार्यकाल अगले साल 2023 में पूरा हो जाएगा और नए अध्यक्ष के चुनाव से पहले अलग-अलग प्रदेशों में भी संगठन का नए सिरे से विस्तार होना है. साल 2023, जनवरी महीने में बीजेपी के अध्यक्ष जेपी नड्डा का कार्यकाल खत्म हो जाएगा और इससे पहले ही चर्चाएं तेज हो गई हैं कि अब आने वाले समय में क्या होगा? या तो नए अध्यक्ष पद का चुनाव करवाया जाएगा या फिर जेपी नड्डा ही आगे अध्यक्ष पद की कमान संभालेंगे?

अध्यक्ष का कार्यकाल

आपको बता दें कि पार्टी के संविधान की धारा 21 के अनुसार कोई भी शख्स 3-3 साल के दो कार्यकाल तक ही भाजपा का अध्यक्ष रह सकता है. प्रदेश कार्यकारिणी, परिषद, समिति के पदाधिकारियों और सदस्यों के कार्यकाल की भी 3 वर्षों तक ही निर्धारित की गई है.

बढ़ाया जा सकता है कार्यकाल

दरअसल, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ जेपी नड्डा हिमाचल प्रदेश से आते हैं और इस साल हिमाचल प्रदेश और गुजरात में चुनाव होना है. इसके बाद साल 2023 में 9 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं और खास बात यह है कि इनमें से तीन चुनाव फरवरी 2023 तक पूरे हो जाएंगे ऐसे में संभव है कि जेपी नड्डा के कार्यकाल को 1 साल के लिए बढ़ा दिया जाए ताकि 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव निपट जाएं.

यूपी से हो सकता है अगला अध्यक्ष?

Also Read -   जेडीयू के नए पोस्टर से मचा तहलका! पीएम मोदी को टक्कर देने के लिए ये नई तरकीब?

आपको बता दें कि ऐसा जरुरी नहीं है कि मौजूदा बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा का कार्यकाल बढ़ाया ही जाए, हो सकता है कि किसी नए चेहरे को मौका दिया जाए क्योंकि वर्तमान में स्थिति ऐसी है कि राजनीतिक गलियारों में कुछ भी हो सकता है. सत्ता पर काबिज होने के लिए उत्तर प्रदेश की राजनीति भी बढ़ी है इसलिए यूपी को भी तवज्जो दिया जा रहा है. फिलहाल, देखना होगा कि इस बार किसे मौका मिल सकता है, हो सकता है कि डॉ जेपी नड्डा ही आगे बीजेपी के अध्यक्ष पद की कमान संभालें या फिर कुछ नया बदलाव हो.