बिहार में जेडीयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार में हुए सियासी फेरबदल के बाद कहा कि, मेरे लिए पद नहीं मिशन बड़ा है, आईडियोलॉजी बड़ी है और आज की तारीख में पार्टी संगठन के लिए काम करना हमारे लिए सबसे बड़ा धर्म है. यही नहीं उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि, अपने पूरे राजनीतिक जीवन में कभी भी पद नहीं मिलने पर नाराजगी नहीं जताई, नाराजगी जताने के लिए कई बड़े-बड़े पदों को लात मारी है.

मंत्री नहीं बनाने पर नाराज उपेंद्र कुशवाहा?

आपकों बता दें कि, बिहार में कई चेहरे को नई सरकार में जगह नहीं मिली है. ऐसे में कयास भी लगाए जा रहे थे कि नीतीश मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिलने की वजह से उपेंद्र कुशवाहा नाराज है और जिस दिन बिहार में मंत्रिमंडल का विस्तार होना था उस दिन उपेंद्र कुशवाहा बिहार से बाहर के लिए रवाना हो गए. हालांकि, उपेंद्र कुशवाहा ने इस पूरे मामलें पर कुछ ना कहने को ही समझदारी समझी है. बता दें कि उन्होंने नई सरकार में शामिल सारे मंत्रियों को बधाई जरूर दी है.

 

फेसबुक पोस्ट में बताया इतिहास

मिली जानकारी के मुताबिक, फेसबुक पोस्ट में उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार से बाहर जाने को लेकर लिखा था कि, बाहर होने के कारण मेरे बारे में अनेक तरह की भ्रामक एवं अनाप-शनाप खबरें प्रसारित की गई है और की जा रही है. अपने पूरे राजनीतिक जीवन में मैंने कभी भी पद नहीं मिलने पर नाराजगी नहीं जताई, इतिहास गवाह है मेरे लिए पद बड़ा नहीं है, मिशन बड़ा है, आईडियोलॉजी बड़ी है.

Also Read -   Gujarat opinion poll: Who will win Gujarat assembly election 2017?

इतना ही नहीं उन्होंने आगे कहा कि, आज की तारीख में पार्टी संगठन के लिए काम करना हमारे लिए सबसे बड़ा धर्म है. ऐसे में मेरा पक्ष जाने बिना मंत्री नहीं बनने पर नाराज होने की बात करने वाले महानुभावों, मुझ पर कृपा कीजिए, प्लीज.