सीबीआई के खिलाफ बयान देकर मनीष सिसोदिया की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, जांच के बाद हो सकती है कार्रवाई

0
310

शराबनीति घोटाले में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं . इस घोटाले में सीबीआई उनसे पूछताछ कर रही है इसी बीच उन्होंने जांच एजेंसी के खिलाफ ही बयान देकर अपनी मुश्किलें बढ़ा ली हैं. दरअसल सिसोदिया ने सीबीआई पर आरोप लगाते हुए कहा था कि पूछताछ के दौरान उन्हें आम आदमी पार्टी छोड़ने की धमकी दी गई थी. सीबीआई ने उपमुख्यमंत्री द्वारा लगाये गए आरोपों को खारिज कर दिया है.

जाँच एजेंसी ने कहा है कि अब तक हुई जांच के आधार पर ही उनसे पूछताछ की गयी है. इसी के साथ अधिकारियों ने आगे कहा है कि उनके बयान की पुष्टि की जाएगी और जांच की आवश्यकता के हिसाब से कार्रवाई भी की जाएगी. घोटालों के आरोपों में घिरे मनीष सिसोदिया ने सीबीआई के खिलाफ ही बयान देकर बड़ी मुसीबतें पैदा कर ली हैं.

सीबीआई कार्यालय से बाहर निकलने के बाद भी मनीष सिसोदिया ने कैमरे के सामने भी यही कहा कि पूछताछ के दौरान उनसे AAP पार्टी छोड़ने का दवाब बनाया गया साथ ही मुख्यमंत्री पद की पेशकश भी की गयी. आबकारी घोटाले के संबंध में सोमवार को मनीष सिसोदिया से जांच एजेंसी ने 9 घंटे की पूछताछ की थी.

गौरतलब है कि मनीष सिसोदिया ने सीबीआई पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें मुख्यमंत्री बनने की पेशकश की गयी या फिर जेल काटने की, उन्होंने कहा मेरे खिलाफ भी कोई मामला नहीं था और सत्येन्द्र जैन पर भी लेकिन वो जेल में हैं. उनके इन आरोपों को सीबीआई ने खारिज किया है और कहा है इन आरोपों की जाँच करके सख्त कार्रवाई की जाएगी.