BJP On Congress: ‘मोहब्बत की दुकान की बजाय बनाया नफरत का मॉल’, कांग्रेस पर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने साधा निशाना

0
13884
फाइल फोटो

लोकसभा चुनाव से पहले सियासी हलचलें तेज हो गई हैं. केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता अनुराग ठाकुर ने कांग्रेस पार्टी पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस नेता सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने अपने कुछ लोगों को यह अनुमति दे रखी है कि, देश के संविधान को बर्बाद कैसे करना है. उन्होंने कहा कि देश में कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्हें देश की तरक्की हजम नहीं हो रही. बता दें कि राहुल गांधी पर जुबानी हमला करते उन्होंने कहा कि, मोहब्बत की दुकान की जगह उन्होंने नफरत का मेगा मॉल खोल रखा है. हालांकि, इस पर कांग्रेस ने भी पलटवार किया है. सबसे पहले आपको बताते हैं कि केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कांग्रेस को लेकर क्या कहा था…

फाइल फोटो

‘मोहब्बत की दुकान की बजाय नफरत का मेगा मॉल खोला’

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा था कि, ‘देश के विकास से कुछ लोग खुश नहीं है. वह संविधान को बर्बाद कर देना चाहते हैं. सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने नेशनल लोगों को परमिशन दे रखी है. संविधान में कहीं नहीं कहा गया कि किसी को किसी भी धर्म को अपमानित करने का अधिकार है. उन्होंने राहुल गांधी का नाम लिए बगैर ये तक कह डाला कि कुछ लोग मोहब्बत की दुकान खोलने गए थे इसकी जगह नफरत का मेगा मॉल बना लिया. कुछ लोग हिंदुओं का अस्तित्व मिटाना चाहते हैं और सनातन धर्म को कुचलना चाहते हैं. उन्होंने सनातन धर्म को लेकर भी कांग्रेसियों को आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि, कांग्रेसियों को सनातन धर्म से शर्म आती है. वह सनातन धर्म को खत्म कर देना चाहते हैं…’

फाइल फोटो

कांग्रेस ने किया पलटवार

आपको बता दें कि, कांग्रेस सांसद मानिकम टैगोर ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि, ‘बीजेपी के साथियों के साथ यही समस्या है जो हमेशा मोहब्बत का मतलब ही नहीं समझते. मोहब्बत का मतलब सम्मान और प्यार होता है. कांग्रेस और इंडिया गठबंधन सभी धर्म, सभी जातियों, समुदायों, समाज के सभी वर्गों का सम्मान करते हैं…अनुराग को मोहब्बत पर भाषण नहीं देना चाहिए…’ बताते चलें कि ये वार-पलटवार का दौर पिछले काफी समय से चल रहा है क्योंकि अब चुनावी दौर का समय शुरू हो चुका है इसलिए वार-पलटवार, सियासी घमासान की रणनीतियां देखने को मिल रही हैं.