ब्रिटेन ही नही विश्व के 7 देशों पर हकूमत रहे है भारतीय मूल के नागरिक,कौन किस देश में किस पद पर है पदस्थ,जानिए 

0
728

दोस्तो अंग्रेजो ने भारत देश पर सालो हकुमत की और भारतवासियों पर कितने जुल्म किए आज भी भारतवासी अपने इतिहास को भुला नहीं है ।लेकिन समय एक जैसा नहीं रहता है अंग्रेजो को भारत से भगाया गया देश आजाद हो गया ।लेकिन पुराने दिनों को कोई नही भूलता पर जबसे भारतीय मूल के ऋषि सुनक के ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बनने की खबर सामने आई है देशवासियों में काफी उत्साह बना हुआ है ।42साल के सुनक अब उस ब्रिटेन पर राज करेंगे जिस ने कभी भारत को अपना गुलाम बनाया हुआ था ।

ऋषि के दादा-दादी पंजाब के रहने वाले थे। ऋषि की पत्नी अक्षता मूर्ति भी भारतीय हैं। अक्षता के पिता एन नारायणमूर्ति देश के बड़े उद्योगपति हैं। आईटी कंपनी इंफोसिस की स्थापना नारायणमूर्ति ही की थी।बता दें की ऋषि ही नहीं, बल्कि विश्व के कई देशो में सर्वोच्च पदों पर भारतीय नागरिक पदस्थ है। जिन्होंने अपनी काबिलियत के दम पर ये मुकाम हासिल किया है। आज हम आपको ऐसे ही नेताओं के बारे में जानकारी देंगे।

कमला हैरिस –

कमला हैरिस अमेरिका की उपराष्ट्रपति हैं। डेमोक्रेटिक पार्टी से आने वाली कमला अमेरिकी इतिहास में उपराष्ट्रपति बनने वाली पहली महिला और इस पद पर पहुंचने वाली भारतीय मूल की भी पहली महिला हैं।

एंटोनियो कास्टा –

भारतीय मूल के एंटोनियो कास्टा वर्तमान में पुर्तगाल के प्रधानमंत्री है। 61 साल के एंटोनियो ने 2015 में पुर्तगाल के प्रधानमंत्री की कुर्सी संभाली थी। एंटोनिया के पिता का जन्म गोवा में हुआ था।

प्रविंद जुगन्नाथ –

भरतीय मूल के प्रविंद जगन्नाथ वर्तमान में मॉरिशस के प्रधानमंत्री है। जगन्नाथ का जन्म हिंदू अहीर परिवार में हुआ है। इनके पिता भारतीय थे। उनका राजनीतिक करियर 1987 में शुरू हुआ था और वह 1990 में MSM पार्टी से जुड़े। 2000 में वह पहली बार कृषि मंत्री और फिर 2005 में वित्त मंत्री बने थे।वर्ष 2017 से वह मॉरिशस के प्रधानमंत्री है। इसी साल अगस्त में प्रविंद जगन्नाथ वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर के तीन दिवसीय दौरे पर आए थे।

भरत जगदेव-

भारतीय मूल के भरत जगदेव 2020 से गुयाना के उपराष्ट्रपति हैं।उनका जन्म 23 जनवरी 1964 को गुयाना में एक भारतीय हिंदू परिवार में हुआ था। 1912 में जगदेव के दादा राज जियावन को अंग्रेज उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले से मजूदर के रूप में गुयाना ले गए थे। वह भारतीय मूल के गुयाना के राष्ट्रपति इरफान अली के एडमिनिस्ट्रेशन में शामिल हैं। इससे पहले वह 1997 से 1999 तक गुयाना के उपराष्ट्रपति रह चुके हैं।

चान संतोखी –

चान संतोखी वर्तमान में सूरीनाम के राष्ट्रपति है।  चंद्रिका प्रसाद उर्फ चान संतोखी भी भारतीय मूल के हैं।वह पुलिसकर्मी से राजनेता बने है।  चंद्रिकाप्रसाद का जन्म 3 फरवरी 1959 को भारतीय-सूनीनामीज हिंदू परिवार में हुआ था। 19वीं सदी की शुरुआत में संतोखी के दादा को अंग्रेज बिहार से मजदूर के रूप में सूरीनाम ले गए थे।

हलीमा याकूब –

सिंगापुर की वर्तमान राष्ट्रपति हलीमा भारतीय मूल की हैं। उनके पिता भारतीय और माँ मलेशियन थी। हलीमा के पिता वॉचमैन थे। जब हलीमा आठ साल की थीं, तभी उनके पिता का निधन हो गया था। वह खुद के प्रयासों से इस मुकाम पर पहुंचने वाली पहली भारतीय मूल की महिला है।

इरफान अली –

गुयाना के वर्तमान राष्ट्रपति मोहम्मद इरफान अली भी भारतीय मूल के हैं। गुयाना की आठ लाख की आबादी में से करीब आधे भारतीय मूल के लोग हैं। अली का जन्म 25 अप्रैल 1980 को गुयाना में एक भारतीय-गायनीज मुस्लिम परिवार में हुआ था। अली ने यूनिवर्सिटी ऑफ वेस्टइंडीज से अर्बन और रीजनल प्लानिंग में डॉक्टरेक्ट की डिग्री हासिल की है।