सात जन्मों का वादा वापस लेकर पति ने करवा चौथ के दिन पत्नी की प्रेमी संग करवा दी शादी..

0
447

दोस्तो पति पत्नी का रिश्ता ऐसा होता है कि वैसे तो दोनो ही किसी तीसरे का अपने रिश्ते में आना बर्दाश्त नहीं कर सकते। ऐसे में यदि पति का किसी से संबंध हो तो पत्नी अपनी नाराजगी जाहिर कर सब कुछ भूल कर पति को माफ कर भी देती है लेकिन पति के लिए ऐसा करना मुश्किल होता है ।आपने कई फिल्मों में देखा होगा जैसे ही पति को पता चलता है कि उसकी पत्नी किसी और को प्यार करती है वो चल पड़ते है पत्नी को उसके प्रेमी से मिलवाने ये तो फिल्म की बात है ।लेकिन रियल लाइफ में ऐसा कुछ पता चले तो पति तो जान ही ले ले ।आज हम आपको ऐसे ही एक मामले के बारे में बताने वाले है ।जिसमे करवा चौथ पर एक पति ने पत्नी को ऐसा तोहफा दिया जिसे वो जीवन भर याद रखेगी की ।अब उस महिला के पति ने ऐसा भी क्या तोहफा दे दिया क्या है पूरा मामला जानने के लिए खबर को अंत तक जरूर पढ़े।

करवा चौथ वो त्यौहार है जिसमें शादीशुदा महिलाये अपने पति की लम्बी उम्र के लिए व्रत रखती है .सोलह श्रृंगार कर बिना कुछ खाए पिए व्रत के साथ पूजा करती है और पति भी इस दिन अपनी पत्नियों को मनचाहा तोहफा देकर उनके चेहरे पर मुस्कान देखकर खुश हो जाते है . आज हम आपको एक ऐसे अनोखे मामले  के बारे में बताने वाले है जिसमे करवा चौथ पर एक पति ने अपनी पत्‍नी को उसके प्रेमी को सौंप दिया .

जानिए कहां का है ये अजब-गजब मामला

बिहार के भागलपुर से ये मामला सामने आया है जिसमे फिल्‍मी स्‍टाइल में पति ने अपनी पत्‍नी की खुशी के लिए उसे उसके प्रेमी के साथ विदा किया और उस वचन को भी वापिस लिया जो  उसने शादी करते  समय उसके साथ सात जन्‍मों तक साथ निभाने का लिया था .

पूरे गांव के सामने हुआ ये पूरा ड्रामा

बिहार के भागलपुर के सुल्‍तानगंज क्षेन के गनगानिया गांव की ये हैरतअंगेज  घटना सुनकर सभी आश्चर्यचकित है .आक्पकी जानकारी के लिए बता दे  ये सब ऐसे ही नहीं हुआ बल्कि बकायदा कानूनी कार्रवाई करने के बाद  पत्‍नी को प्रेमी के साथ विदा किया गया है .

2012 में हुई थी दोनों की शादी, चार बच्‍चे भी हैं

साल 2012 में श्रवण कुमार और पूजा की शादी  हुई थी. लेकिन अभी शादी को कुछ समय हुआ था कि ससुराल मे पूजा अपने पड़ोसी छोटू पर  दिल हार बैठी .  छोटू अपने ननिहाल गनगनिया में  रहता था और अभी अपनी पढ़ाई पूरी कर रहा था . जिसके बाद पूजा और छोटू को  गांव वालों ने एक साथ कई बार देखा और अपनी नारजगी जाहिर करते हुए आपत्ति जताई .जिसके बाद श्रवण ने अपनी पत्‍नी पूजा से इस बारे में बात की और उसे प्यार से समझाने की कोशिश की लेकिन पूजा पर इश्क का बुखार्र चढ़ा था और वो नहीं मानी. श्रवण और पूजा चार  बच्चो के माता पिता भी हैं.

जानें कचहरी में कैसे पहुंचा ये मामला

दरअसल, पूजा छोटू के प्यार में इस कदर दीवानी हो गयी थी कि वह एक सप्‍ताह पहले घर छोड़ कर छोटू के साथ भाग गई.जिसके बाद पूजा के पति  श्रवण ने एफआईआर दर्ज करवाई जिसके बाद इस मामले पर कचहरी में सुनवाई हुई और  श्रवण  की  इजाजत से यही पर जिन्दगी भर साथ निभाने की पूजा और छोटू ने कसमे खायी माला पहना कर शादी कर ली .

पत्‍नी पूजा की शादी उसके प्रेमी से करवाई

करवा चौथ के दिन ग्राम कचहरी में जब श्रवण ने जब अपना फैसला सुनाया तो वंहा मौजूद सभी लोग  हैरान थे .इस दिन श्रवन ने अपनी पत्‍नी पूजा की शादी उसके प्रेमी से करवा दी