24.1 C
New Delhi
Friday, December 9, 2022

धनतेरस पर 5 रुपए का यह उपाय बरसाएगा मां लक्ष्मी की अपार कृपा

धनतेरस पर 5 रुपए का यह उपाय बरसाएगा मां लक्ष्मी की अपार कृपा

त्यौहारों के महीने के शुरु होते ही लोग घर की साफ़–सफाई सहित विभिन्न तैयारियों में लग गए हैं। हिंदुओं को सबसे प्रमुख त्यौहार और फिर दीपावली…इस अवसर पर वे मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने का कोई अवसर नहीं छोड़ना चाहते। इस बार 23 अक्टूबर को धनतेरस तो 24 अक्टूबर को नरक चतुर्दशी और दिवाली मनाई जाएगी । वहीं 25 अक्टूबर और 26 अक्टूबर को क्रमश: गोवर्धन पूजा और भाई दूज का त्यौहार मनाया जाएगा। दिवाली में महालक्ष्मी की पूजा–अर्चना की जाती है जिसकी शुरुआत धनतेरस के दिन से होती है।

जैसा कि हम जानते हैं कि धनतेरस के दिन भगवान धन्वंतरि (Lord Dhanvantari) सहित माता लक्ष्मी और कुबेर जी की पूजा पूरे भक्ति–भाव से की जाती है। धनतेरस के दिन बर्तनों की खरीदारी करना भी काफ़ी शुभ होता है। साथ ही इस दिन सोना, चांदी और धातु के सामान भी खरीदते हैं। इन सब के अलावा आपको जानकर खुशी और आश्चर्य (joy and wonder) होगा कि धनतेरस के मौके पर सिर्फ पांच रुपये की चीज आपके जीवन में समृद्धि और खुशियां ला सकती है।

यह है उपाय जो लाएगा समृद्धि

23 अक्टूबर को धनतेरस के अवसर पर यह एक उपाय काफ़ी लाभकारी साबित (prove beneficial) होगा। इस दिन आप महज पांच रुपये का साबुत धनिया घर ले आएं। यह साबुत धनिया (Coriander) आपके लिए बेहद शुभ साबित हो सकता है। इसके लिए साबुत धनिया को अपने पूजा घर या मंदिर में रख दीजिए और दिवाली के दिन मां लक्ष्मी की पूजा करते समय उसी साबुत धनिया को मां के चरणों में अर्पण कर दीजिए।

Also Read -   12 Things You Didn't Know About Gandhi

इसके एक दिन बाद इसी धनिया को घर के किसी गमले या गार्डन (pot or garden) में डालकर कुछ दिनों का इंतजार कीजिए। कुछ दिनों में धनिया का पौधा उग सकता है जिससे आपको आगामी वर्ष में आपके परिवार की आर्थिक स्थिति के बारे में पता चलेगा। यह देखें कि यदि धनिया का पौधा हरा भरा उगा हुआ है लेकिन पेड़ पतले हैं तो आपकी आय सामान्य हो सकती है। यदि पौधा पीला उगेगा या पौधा आएगा ही नहीं तो आर्थिक परेशानियों का सामना आपको करना पड़ सकता है। अतः मां लक्ष्मी की पूजा के साथ ईमानदारी और लगन से कर्म करते रहें।

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles