एक बहुत पुरानी कहावत है ”जिसका काम उसी को साजे और करे तो ठेंगा बाजे”. खेल के मैदान पर सफलता हासिल कर बड़ी उम्मीद के साथ फिल्मी पर्दे पर अपनी किस्मत आजमाने वाले क्रिकेटरों पर ये कहावत एकदम सही बैठती है. भारतीय क्रिकेट टीम में ऐसे बहुत से खिलाड़ी हैं जिन्होंने क्रिकेट की अपनी लोकप्रियता को फ़िल्मी दुनिया में बहुत बड़ी उम्मीद के साथ भुनाने की कोशिश तो बहुत की थी, लेकिन इन क्रिकेटरों के हाथ सिर्फ नाकामी ही लगी. बेशक भारतीय क्रिकेट टीम के इन खिलाडियों ने अपनी प्रतिभा से लाखों क्रिकेट प्रेमियों को उनका प्रशंसक बनाया, लेकिन बड़े पर्दे पर इनका जादू बिलकुल नहीं चल सका. आज हम आपको ऐसे ही क्रिकेटों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने क्रिकेट में तो खूब नाम कमाया, लेकिन बड़े पर्दे में कदम रखने पर इन क्रिकेटरों को सफलता नहीं मिली.

4. सुनील गावस्कर

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और दिग्गज ओपनर सुनील गावस्कर ने अपने क्रिकेट करियर के दौरान ही मराठी फ़िल्म जिसका नाम ‘सावली प्रेमाची’ में मुख्य किरदार निभाया था, लेकिन ये फ़िल्म बड़े पर्दे पर पूरी तरह से फ़्लॉप रही थी और लोग जितना सुनील को एक क्रिकेटर के रूप में पसंद करते थे उतना एक अभिनेता के रूप में नहीं कर पाए. लोगों को सुनील की एक्टिंग बिलकुल भी पसंद नहीं आई. इसके बाद साल 1988 में रिलीज हुई कॉमेडी हिंदी फिल्म ”मालामाल” में सुनील बतौर गेस्ट अपियरेंस देते हुए नजर आए थे.

Source: Aaj Tak 

3. संदीप पाटिल

भारतीय क्रिकेट टीम के आक्रामक बल्लेबाजों की लिस्ट में सबसे ऊपर आने वाले संदीप पाटिल किसी परिचय के मोहताज़ नहीं हैं. संदीप पाटिल ने इंग्लैंड के बॉब विलियस के ओवर में 6 छक्के जड़कर रिकॉर्ड बनाया था. वर्ल्ड कप 1983 में भारतीय क्रिकेट टीम के चैंपियन बनने के बाद संदीप पाटिल को फिल्मों में काम करने का मौक़ा मिला. साल 1985 में रिलीज हुई फिल्म ”कभी अजनबी थे” में संदीप को बॉलीवुड फिल्मों में काम करने का मौक़ा मिला. इस फिल्म में उनके साथ पूनम ढिल्लो और देबश्री रॉय भी नजर आई थी. आपमें से बहुत कम लोगों को ये बात पता होगी कि इस फिल्म में विलेन का किरदार भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर और वर्ल्ड कप 1983 की विजेता भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य सैयद किरमानी नजर आए थे.

Also Read -   बॉलीवुड में सिक्का जमाने के लिए इन 3 दिग्गज कलाकारों को बदलना पड़ा था अपना ''असली नाम''

Source: Navbhart 

2. युवराज सिंह

टी -20 क्रिकेट टीम में एक ओवर में छह छक्के जड़ने का कारनामा करने वाले युवराज सिंह ने अपने क्रिकेट करियर में भारतीय क्रिकेट टीम को बहुत से मैच जिताने में अहम भूमिकाएं निभाई हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि युवराज सिंह एक पंजाबी फिल्म में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट के रूप में काम कर चुके हैं. जिस फिल्म में युवराज सिंह चाइल्ड आर्टिस्ट के रूप में नजर आए थे उस फिल्म का नाम था ”मेहंदी शगना दी”. वहीँ बात की जाए यव्राज के पिता योगराज सिंह की तो योगराज सिंह भी तेज़ गेंदबाज की हैसियत से भारत के लिए खेल चुके हैं और उन्होंने पंजाबी और बॉलीवुड की बहुत सी फिल्मों में अभिनय भी किया हुआ है.

Source: India.com

1. अजय जडेजा

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर अजय जडेजा भी फिल्मों में हाथ आजमा चुके हैं. साल 2003 में रिलीज हुई फिल्म ”खेल” में अजय जडेजा नजर आए थे. अजय के आलावा सनी देओल, सुनील शेट्टी और अभिनेत्री सेलिना जेटली भी इस फिल्म में मुख्य भूमिका में नजर आए थे. इस फिल्म ने बड़े पर्दे पर कुछ खास कमाई नहीं की थी और लोगों ने अजय की एक्टिंग को उतना नहीं सराहा था जितना की क्रिकेट के मैदान पर उन्हें लोगों का भरपूर प्यार मिलता था. अजय ने इस फिल्म के बाद दोबारा फिल्मों में काम करने के बारे में नहीं सोचा और फिल्मों से किनारा करने में ही अपनी भलाई समझी.

Source: Patrika News

वैसे अजय का नाम बॉलीवुड की अभिनेत्रियों के साथ भी जुड़ चुका है और उनकी शादी की खबरें भी बॉलीवुड के गलियारों से सुनने को मिलती थी, लेकिन ये महज अफवाह ही होती थी.