कांग्रेस के दिग्गज नेता गुलाम नबी आजाद ने कांग्रेस पार्टी से अपने सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है जिसके बाद से कांग्रेस की राजनीति पर हर ओर से कई तरह के बयान दिए जा रहे हैं. मिली जानकारी के मुताबिक, गुलाम नबी आजाद के इस्तीफे पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की प्रतिक्रिया भी सामने आई है.

सीएम गहलोत ने किया पलटवार

दरअसल, शुक्रवार को गुलाम नबी आजाद ने इस्तीफा दिया जिसके बाद सीएम अशोक गहलोत ने उन पर पलटवार किया. उन्होंने कहा कि, आज ये जिन लोगों को चापलूस कह रहे हैं उस वक्त गुलाम नबी आजाद जैसे लोग भी संजय गांधी के साथ थे. वो चापलूसी माने जाते थे. आज इतने बड़े नेता बने, उस वक्त कई नेता कहते थे कि संजय गांधी चापलूसी से घिरे हुए हैं. उस वक्त संजय गांधी अगर दवाब में आकर हटा देते तो आज गुलाम नबी आजाद का नाम देश के लोग नहीं जान पाते.

सीएम गहलोत ने की टिप्पणी

इतना ही नहीं उन्होंने आगे कहा कि, संजय गांधी भी कई लोगों की बात नहीं मानते थे. दूसरे कई नेता और गुलाम नबी आजाद उन्हीं के प्रोडक्ट हैं. संजय गांधी यूथ कांग्रेस थे, तब उन पर एक्स्ट्रा कॉन्स्टिट्यूशन बनने के आरोप लगे थे. उस वक्त के प्रोडक्ट ही आगे जाकर मुख्यमंत्री, मंत्री, केंद्रीय मंत्री और पार्टी संगठन में बड़े-बड़े पदों पर पहुंचें. बता दें कि सीएम गहलोत ने गुलाम नबी आजाद को संजय गांधी का बेहद करीबी बताया.

सोनिया गांधी को पत्र

वहीं, अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए अशोक गहलोत ने आगे बोला कि, पहले सोनिया गांधी बीमार थी तो आजाद ने पत्र लिखा उस पर कई नेताओं को गुस्सा भी आया था अब पत्र लिखकर वो क्या मैसेज देना चाहते हैं? बताते चलें कि लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों ने कमर कस ली है, हो सकता है इसलिए भी इस्तीफों का दौर जारी है.

Also Read -   प्रधानमंत्री मोदी से कुछ ऐसे मिले विपक्ष के दिग्गज नेता, मानो कभी कुछ हुआ ही नहीं