Priyanka Gandhi Tweet: भाई राहुल गांधी को नहीं मिली कोर्ट से राहत तो भड़कीं प्रियंका गांधी ने कर डाला ट्वीट! कहा- ‘ज्यादा दिन नहीं चलेगा…’

0
244
फाइल फोटो

कांग्रेस नेता राहुल गांधी को गुजरात हाईकोर्ट से झटका लगा है. मोदी सरनेम मामले में गुजरात हाई कोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की पहली प्रतिक्रिया सामने आई. उन्होंने एक ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने राहुल गांधी का हौसला बढ़ाया और साथ ही केंद्र सरकार पर निशाने साधा. बता दें कि प्रियंका गांधी ने एक कविता से ट्वीट की शुरुआत की और उसमें सत्य, सत्ता की बातों पर सरकार को घेरा.

प्रियंका गांधी ने किया ट्वीट

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोर्ट के फैसले के बाद प्रियंका गांधी ने कविता से ट्वीट की शुरुआत की. उन्होंने ट्वीट किया कि, ‘समर शेष है, जनगंगा को खुलकर लहराने दो, शिखरों को डूबने और मुकुटों को बह जाने दो, पथरीली ऊंची जमीन है? तो उसको तोड़ेंगे, समतल पीटे बिना समर की भूमि नहीं छोड़ेंगे, समर शेष है, चलो ज्योतियों के बरसाते तीर, खंड-खंड हो गिरे विषमता की काली जंजीर.’ अपने ट्वीट में उन्होंने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि, ‘अहंकारी सत्ता चाहती है कि जनता के हितों के सवाल ना उठाए, अहंकारी सत्ता चाहती है देश के लोगों की जिंदगियों को बेहतर बनाने वाले सवाल ना उठाए…उनसे महंगाई पर सवाल ना पूछे जाएं, युवाओं के रोजगार पर कोई बात ना हो, किसानों की भलाई की आवाज न उठे, महिलाओं की हक की बात ना हो…राहुल गांधी ने अहंकारी सत्ता के सामने जनता के हितों से जुड़े सवालों की ज्योति जला कर रखी है जिसके लिए वह हर कीमत चुकाने को तैयार है और तमाम हमलों और अहंकारी बीजेपी सरकार के हथकंडो के बावजूद एक सच्चे देश प्रेमी की तरह जनता से जुड़े सवालों को उठाने से पीछे नहीं हटे हैं…जनता की आवाज जीतेगी, जय हिंद.’

फाइल फोटो

क्या है पूरा मामला?

आपको बता दें कि 23 मार्च 2023 को सूरत की सेशन कोर्ट ने राहुल गांधी को 2 साल की सजा सुनाई थी. हालांकि, इस फैसले के 27 मिनट बाद ही उन्हें जमानत मिल गई थी. वहीं, इसके अगले दिन यानी 24 मार्च को राहुल गांधी की सांसदी चली गई थी. बाते करें इस पूरे मामले की तो ये मामला साल 2019 का है जब कर्नाटक में एक जनसभा के दौरान राहुल गांधी ने मोदी सरनेम को लेकर एक आपत्तिजनक बयान दिया था…इसके बाद गुजरात के बीजेपी विधायक पूर्णेश मोदी ने राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि का केस दर्ज कराया था. बताते चलें कि अब राहुल गांधी को हाईकोर्ट से राहत नहीं मिली है तो कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट का रुख करने की बात कह रही है, देखना होगा कि इस मामले पर और क्या कुछ निकल कर सामने आता है.