बॉलीवुड में काम पाने के लिए हर साल बहुत से कलाकार छोटे शहरों से छोड़कर मुम्बई नगरी की तरफ ये सोचकर अपना रुख मोड़ते हैं कि वो किसी समय में फिल्मों में खूब नाम और शोहरत कमाकर बॉलीवुड में ऐसी जगह पक्की कर पाएंगे. इनमें से कुछ कलाकार तो दिन रात मेहनत करके फिल्म निर्माताओं- निर्देशकों के ऑफिस के चक्कर काटकर फिल्मों में छोटा सा रोल पाकर अपने अभिनय का हुनर लोगों को दिखाकर बॉलीवुड में फेम पा लेते है और खुद को बॉलीवुड के दिग्गज कलाकारों की लिस्ट में भी शामिल कर लेते हैं. वहीँ बहुत से ऐसे भी सितारे होते है जिन्हें इस फ़िल्मी दुनिया में अपनी जगह बनाने में सालों लग जाते हैं, लेकिन बहुत बार ऐसा भी होता है कि बॉलीवुड में खूब नाम और शोहरत कमा रहे कुछ सितारों के मन में इस बॉलीवुड नगरी को अलविदा कहने का कर जाता है. आज हम आपको बॉलीवुड के कुछ ऐसे ही सितारों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने किसी समय अपने एक्टिंग के पेशे को छोड़ने का फैसला कर लिया था.

3. आमिर खान

साल 1988 में रिलीज हुई फिल्म ”क़यामत से क़यामत तक” से बॉलीवुड में कदम रखने वाले आमिर खान को बॉलीवुड में ”मिस्टर परफेक्शनिस्ट” के नाम से भी जाता है. इस फिल्म के बाद ”दिल” और ”दिल है कि मानता नहीं” फिल्मों की सफलता की वजह से आमिर खान 90 के दशक में बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेताओं की लिस्ट में शामिल हो गए थे. आमिर के फ़िल्मी करियर में असली मोड़ आया साल 2001 में आई फिल्म ”लगान” के बाद. आमिर की लगन फिल्म ने बड़े पर्दें पर रिलीज होते के साथ ही कई नए रिकॉर्ड बनाए और बहुत से पुराने रिकॉर्ड तोड़ भी दिए. आज आमिर खान साल में सिर्फ एक ही फिल्म करते है और उनकी गिनती बॉलीवुड के सबसे महंगे और अमीर अभिनेताओं में की जाती है. आपको जानकर हैरानी होगी कि आमिर खान की ज़िंदगी में भी ऐसा मोड़ आ चुका है जब उन्होंने फ़िल्मी दुनिया को अलविदा कहने का फैसला कर लिया था. कुछ दिनों पहले मीडिया को दिये एक इंटरव्यू में आमिर खान ने बताया था कि ”एक्टिंग की वजह से मेरी निजी जिंदगी पर बहुत असर पड़ रहा था. मैंने अपने परिवार से कहा था कि मैं एक्टिंग बिल्कुल छोड़ दूंगा, सिर्फ फिल्में प्रोड्यूस करूंगा. ये बात सुनकर मेरा परिवार शॉक हो गया था”. हालांकि बाद में आमिर खान के परिवार ने ही इस समस्या से उबरने में उनकी मदद की थी.

Also Read -   What was Ambedkar's ideas on Caste system in Hinduism?

Source: Patrika 

2. अभिषेक बच्चन

बॉलीवुड में शहंशाह के नाम से जाने जाने वाले अभिनेता अमिताभ बच्चन किसी परिचय के मोहताज़ नहीं हैं. अमिताभ ने अभी तक के फ़िल्मी करियर में बॉलीवुड को बहुत सी हिट और सुपरहिट फ़िल्में दी है और आज अमिताभ बच्चन की गिनती बॉलीवुड के सबसे महंगे और दिग्गज अभिनेताओं में भी की जाती है. कहा जाता है कि अभिषेक बच्चन बॉलीवुड की जिस भी फिल्म में काम करते है उस फिल्म के हिट या सुपरहिट होने के चांस बहुत ज्यादा होते हैं. वहीँ बात की जाए अमिताभ बच्चन के बेटे अभिषेक की तो अमिताभ बच्चन बॉलीवुड के ऐसे सुपरस्टारों की लिस्ट में भी आते है जिनके बेटे बॉलीवुड में कुछ खासा मुकाम हासिल नहीं पाए. अभिषेक ने साल 2000 में रिलीज हुई फिल्म ”रिफ्यूजी” से बॉलीवुड में कदम रखा था, लेकिन अपने अभी तक के फ़िल्मी करियर में अभिषेक ने ऐसी कोई भी सुपरहिट फिल्म बॉलीवुड को नहीं दी है जिससे उनकी तुलना उनके पिता अमिताभ बच्चन से की जा सके. मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में अभिषेक बच्चन ने इस बात का खुलासा किया था कि वो फिल्म इंडस्ट्री छोड़ने वाले थे. अभिषेक बच्चन ने बताया था कि ‘‘मुझे ऐसा लगता था कि इस इंडस्ट्री में आना मेरी सबसे बड़ी गलती है. इसके लिए मैं अपने पिता के पास गया और कहा कि शायद मैं इस इंडस्ट्री के लिए नहीं बना हूँ. उस वक्त पर मेरे पिता ने ही मुझे सही सलाह दी थी”.

Source: AmarUjala

1. कैटरीना कैफ

बॉलीवुड की सबसे खूबसूरत अभिनेत्रियों की लिस्ट में शामिल कैटरीना कैफ को बॉलीवुड की सबसे फिट अभिनेत्रियों के खिताब से भी नवाजा जा चुका है. अभी तक के अपने फ़िल्मी करियर में कैटरीना ने हर तरह की फिल्म में काम किया है. बॉलीवुड में काम पाने के लिए कैटरीना कैफ ने बहुत संघर्ष किया है तब जाकर आज कैटरीना ने बॉलीवुड में अपनी जगह पक्की की है. शायद आपको ना पता हो कि कैटरीना कैफ की ज़िंदगी में भी एक ऐसा समय आया था जब उन्होंने फिल्मी इंडस्ट्री को छोड़ने का फ़ैसला कर लिया था. ये उन दिनों की बात है जब साल 2007 में कैटरीना कैफ की फ़िल्म ”नमस्ते लंदन” रिलीज़ हुई थी.

Also Read -   बॉलीवुड के इन 3 दिग्गज सितारों के इंडिया में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी अपने आलीशान घर

Source: News18 

एक चैट शो में शिरकत करने पहुँची कैटरीना कैफ ने खुलासा किया था कि ”मुझे लगा लोग मुझे फिल्मों में नहीं देख सकते ये डिजास्टर है. उस दौरान मुझे लग रहा था कि मुझे अपना करियर किसी और तरफ बनाना चाहिए”.