बॉलीवुड फ़िल्मों में जितनी अहमियत हीरो या हीरोईन के रोल को दी जाती है उतनी ही अहमियत फ़िल्मों में विलेन के रोल को भी जाती है. अब आप ही सोचिये अगर 60, 70 और 80 के दशक की फ़िल्मों में विलेन का किरदार नहीं होता तो फिल्में बहुत ज़्यादा बोरिंग हो जाती और दर्शक फ़िल्मों को देखने में कोई इंटरेस्ट नहीं दिखाते . दरअसल हीरो और हीरोईन की प्रेम कहानी में ट्विस्ट लाने का काम एक खलनायक ही कर सकता है. बात करें उस दौर में फ़िल्मों में विलेन के रोल निभाने वाले सितारों की तो उस दौर में बिंदु, अरुणा ईरानी और ललिता पवार जैसी अभिनेत्रियाँ फ़िल्मों में विलेन के रोल में जान डाल देती थी. ऐसा नहीं है कि विलेन के रोल में सिर्फ़ अभिनेताओं ने ही लोगों के दिलों में एक अलग जगह बनाई है बल्कि बॉलीवुड की अभिनेत्रियाँ भी इस मामले में अभिनेताओं को कड़ी टक्कर देती हैं. आज हम आपको बॉलीवुड की उन सास के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने विलेन बनकर पर्दें पर किए अपनी बहुओं पर अत्याचार.

3. नादिरा

बॉलीवुड अभिनेत्री नादिरा की गिनती बॉलीवुड की शानदार और खूबसूरत अभिनेत्रियों में की जाती है. नादिरा ने बॉलीवुड कि बहुत सी फ़िल्मों में काम किया है और उनके अभिनय को लोगों ने खूब पसंद भी किया है, नादिरा को उनके फिल्मी करियर में कभी भी मेन लीड के ऑफ़र नहीं मिले. उन्होंने बॉलीवुड की जितनी भी फ़िल्मों में काम किया उनमें उन्हें नेगेटिव रोल में ही देखा गया है. नादिरा को ”श्री 420” और ”पाकीजा” जैसी फ़िल्मों में विलेन के रोल को शानदार तरीक़े से निभाने के लिए आज भी याद किया जाता है. बड़े पर्दे पर नादिरा का रोल इतना शानदार था कि लोग उन्हें सच में ही विलेन समझने लगे थे. नादिरा के होंठों के दाहिनी तरफ तिल और उनकी बड़ी-बड़ी आँखें उनके विलेन के लुक में चार चाँद लगा देती थी.

Also Read -   Educational qualifications of Rahul Gandhi and Narendra Modi

Source: Amar Ujala

2. ललिता पवार

बीते जमाने की अभिनेत्री ललिता पावर किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं, ललिता पावर को बॉलीवुड की फ़िल्मों में उनके द्वारा निभाए गए विलेन के रोल के लिए जाना जाता है, साल 1928 में ललिता ने हरिश्चंद्र से अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत की थी. फ़िल्मों में कदम रखने के साथ ही ललिता पवार को फ़िल्मों में लीड रोल तो नहीं मिले, लेकिन उनके आगे विलेन के रोल की लाइन लग गई थी. कहा जाता है कि ललिता की शकल देखकर कोई भी उन्हें विलेन के रोल के लिए ऑफ़र कर देता था. ललिता ने रामायण में मंथरा का रोल भी बहुत ही शानदार तरीक़े से निभाया था. इस रोल के बाद तो ललिता पवार को फ़िल्मों में हमेशा ही विलेन के रोल के लिए ऑफ़र किया जाता था.

Source: Dainik Jagran

1. बिंदु

बिंदु की गिनती बॉलीवुड की सबसे शानदार अभिनेत्रियों में की जाती है. बिंदु को बॉलीवुड फ़िल्मों में कभी भी मेन लीड के लिए तो ऑफ़र नहीं मिले, लेकिन उन्हें सपोर्टिंग रोल और विलेन के रोल के लिए खूब पसंद किया जाता था. साल 1970 से 1980 के बीच में बिंदु ने बॉलीवुड की फ़िल्मों में जमकर विलेन के रोल निभाए है और उनके अभिनय को लोगों के द्वारा खूब पसंद भी किया जाता था. बिंदु कभी जामिल सास तो कभी ननद बनकर अपनी भाभी या बहु पर जमकर अत्याचार करती थी. मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में बिंदु ने बताया था कि ”फ़िल्मों में इतने ज़्यादा बुरी सास के रोल करने की वजह से लोग उन्हें सच में बुरा समझने लगे तो और उन्हें हमेशा ग़ुस्से की भावना से ही देखते थे”. विलेन के रोल के अलावा बिंदु ने फ़िल्मों में कैबरे डांसर के भी रोल किए है.

Also Read -   सलमान से शादी करना चाहती थी बॉलीवुड की ये 3 अभिनेत्रियां,लेकिन सलमान ने किसी को नहीं दिया भाव

Source: Amar Ujala

बिंदु के शानदार अभिनय की वजह से उन्हें फ़िल्मों में काम मिलना उतना मुश्किल नहीं था. फ़िल्मों के अलावा बिंदु ने टीवी सीरियलों में भी नेगेटिव रोल ही किये हैं.