Operation ‘AJAY’: इजराइल-हमास युद्ध के बीच 212 भारतीयों को वतन लाया गया, सरकार ने उठाया खर्च

0
6191

इजराइल और हमास के बीच छिड़ी जंग खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. दोनों के बीच जारी युद्ध ने विकराल रूप ले लिया है जिसमें अब तक करीब 3000 लोगों ने जान गंवा दी है. हमास ने अचानक इजराइल पर हमला बोला है जिसके बाद से चिंताजनक स्थिति बनी हुई है. दिन-रात बमबारी की आवाजें सुनकर वहां के स्थानीय लोग कांप रहे हैं. वहीं, इजराइल में फंसे भारतीयों को सुरक्षित वतन लौटाने के लिए भारत सरकार ने कदम उठाए हैं. बता दें कि इजराइल से 212 भारतीयों को सुरक्षित स्वदेश लेकर भारतीय फ्लाइट इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट शुक्रवार सुबह पहुंची जहां एयरपोर्ट पर केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने उनका स्वागत किया.


‘ऑपरेशन अजय’ के तहत वतन वापसी
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इजराइल से भारतीयों को वापस भारत लाने के लिए केंद्र की मोदी सरकार ने एक ऑपरेशन चलाया है जिसका नाम ‘ऑपरेशन अजय’ है, ‘ऑपरेशन अजय’ के तहत ही वहां फंसे लोगों को वापस स्वदेश लाया जा रहा है. इजराइल में फंसे भारतीयों को निकालने के लिए भारतीय दूतावास लोगों का डाटा तैयार कर रहा है. इस ऑपरेशन के तहत यात्रियों को ‘पहले आओ पहले पाओ’ के आधार पर चुना जा रहा है. वहीं, भारतीयों को वापस लाने का खर्च भी केंद्र की मोदी सरकार ही उठा रही है.


एक हफ्ते से इजराइल में युद्ध जारी
आपको बता दें कि, इजराइल और हमास में करीब एक सप्ताह से युद्ध चल रहा है जिसमें कई मासूम अपनी जान गंवा चुके हैं. लोग परेशान हैं, मदद की गुहार लगा रहे हैं लेकिन आतंकी हमले लगातार जारी है. वहीं, इस मुश्किल घड़ी में भारत ने इजराइल का साथ देने का ऐलान किया है. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना है कि, ‘इस हमले से हैरान हूं. दुखी हूं…हम इजराइल के साथ हैं…’ बताते चलें कि इस हमले में हजारों की संख्या में लोगों ने जान गवां दी है. हालांकि, ऐसी अपील की जा रही है कि जल्द ही युद्ध खत्म हो और स्थिति सामान्य हो जाए.